Tuesday, April 16, 2024
Google search engine
Homeअन्यअफसरों के रवैये से फूटा किसानों का गुस्सा! घेरी तहसील,मांगे पूरी नहीं...

अफसरों के रवैये से फूटा किसानों का गुस्सा! घेरी तहसील,मांगे पूरी नहीं होने पर मवेशियों के साथ आने की दी चेतावनी

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) रोड गुट की ओर से गुरुवार को किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर रुड़की तहसील का घेराव किया गया। अफसरों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए किसान ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय के बाहर बैठ गए। किसानों ने अफसरों को बंधक बनाने की चेतावनी दी। खानपुर के विधायक उमेश कुमार भी किसानों के बीच पहुंचे। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने किसानों को समझा बुझाकर शांत किया। साथ ही, जेएम किसान प्रतिनिधिमंडल एवं संबंधित विभागों के अफसरों की एक बैठक 21 फरवरी को बुलाई है।

गुरुवार को भाकियू रोड के राष्ट्रीय अध्यक्ष पदम सिंह रोड के नेतृत्व में बड़ी संख्या में किसान रुड़की के प्रशासनिक भवन पर पहुंचे। यहां पर किसानों की एक पंचायत हुई। पंचायत में यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पदम सिंह रोड ने कहा कि किसान लगातार प्रताड़ित हो रहे हैं। अफसर किसानों की बात सुनने को तैयार नहीं हैं। चकबंदी विभाग का भ्रष्टाचार किसी से छिपा नहीं है। डीएम कमेटी बनाकर जांच करा चुके हैं, उनके काले कारनामे उजागर हो चुके हैं, लेकिन कार्रवाई करने को कोई तैयार नहीं है। ऊर्जा निगम गांव में जाकर किसानों के कनेक्शन काट दे रहा है। किसानों को प्रताड़ित करने का काम किया जा रहा है। झूठे चोरी के मुकदमे लिखे जा रहे हैं। किसानों का दर्द सुनने को कोई तैयार नहीं है। इसलिए अब किसान संघर्ष के रास्ते को अपनाएगा। किसी भी सूरत में अब उत्पीड़न को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। युवा विंग के प्रदेश अध्यक्ष सचिन टोडा ने कहा कि अब आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी। यूनियन के जिलाध्यक्ष नाजिम अली ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि किसान अपनी ताकत को दिखाए। अफसरों की मनमानी पर अंकुश लगाने का काम किया जाए। इसके बाद किसान जुलूस के रूप में नारेबाजी करते हुए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के कार्यालय के बाहर पहुंच गए। तहसील का घेराव करते हुए धरना शुरू कर दिया। इस बात की जानकारी मिलने पर खानपुर के विधायक उमेश कुमार ने भी किसानों के बीच पहुंचकर समर्थन दिया। साथ ही, ऐलान किया कि वह किसानों की लड़ाई में उनके साथ खड़े हैं। इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष प्रदीप त्यागी, मनोज पाल, इंद्र सिंह रोड, जावेद अली, अब्दुल मन्नान, रजत रोड, प्रधान लाखन रोड, निहाल गिरी आदि मौजूद रहे। वहीं ज्वाइंट मजिस्ट्रेट दिवेश शाशनी ने किसानों के बीच पहुंचकर वार्ता की और बताया कि 21 फरवरी को किसान प्रतिनिधि मंडल एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक होगी। जिसमें उनकी समस्याओं को हल किया जाएगा।

 

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें