Tuesday, April 16, 2024
Google search engine
Homeउत्तराखंडमहाशिवरात्रि की उत्तराखंड के मंदिरों में धूम! सीएम धामी से लेकर कैबिनेट...

महाशिवरात्रि की उत्तराखंड के मंदिरों में धूम! सीएम धामी से लेकर कैबिनेट मंत्रियों ने प्रदेश के सुख समृद्धि के लिए की कामना

महाशिवरात्रि पर भगवान शिव का जलाभिषेक के लिए शिवालयों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की लंबी लाइन लगी हुई है। तमाम मंदिरों में बम- बम भोले की गूंज से माहौल भक्तिमय बना हुआ है. वहीं श्रद्धालु भगवान शिव का जलाभिषेक कर सुख समृद्धि की कामना कर रहे हैं। पूरे देश के साथ-साथ उत्तराखंड में भी शिवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है।

वहीं महाशिवरात्रि के अवसर पर अपने गृह क्षेत्र खटीमा पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चकरपुर स्थित बनखंडी महादेव मंदिर पहुंचकर मंदिर प्रांगण में लगने वाले वार्षिक मेले का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बनखंडी महादेव की आराधना करते हुए उत्तराखंड वासियों एवं प्रदेश के लिए समृद्धि की कामना की। आपको बता दें, सीएम धामी की बनखंडी महादेव में बहुत श्रद्धा है जिसके चलते गए मुख्यमंत्री धामी बनखंडी महादेव के दर्शन करने के लिए अक्सर चकरपुर स्थित बनखंडी महादेव मंदिर जाते भी रहते हैं। वहीं मीडिया से बात करते समय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने समस्त प्रदेशवासियों को शिवरात्रि पर्व की शुभकामनाएं प्रेषित की, साथ ही उत्तराखंड की जनता का पीएम मोदी के प्रति अत्यधिक प्रेम होने की बात कहते हुए उत्तराखंड की पांचो सीटों पर जोरदार जीत का दावा भी किया।

दूसरी तरफ महाशिवरात्रि के इस पावन दिन पर कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने देहरादून स्थित प्राचीन चन्द्रेश्वर महादेव मंदिर पहुंचकर भगवान भोलेनाथ का रुद्राभिषेक एवं जलाभिषेक के साथ पूजा अर्चना की। इस अवसर पर रेखा आर्या ने कहा कि भोलेनाथ से कामना है कि यह महापर्व हर किसी के जीवन में नई ऊर्जा लेकर आए और अमृतकाल में देश के संकल्पों को नई ताकत भी दे और उत्साहपूर्वक मनाया जाने वाला यह पर्व सबके जीवन में शांति और समृद्धि लेकर आए। यह महापर्व हर किसी के जीवन में नई ऊर्जा लेकर आए और अमृतकाल में देश के संकल्पों को नई ताकत भी दे। राजधानी देहरादून में महाशिवरात्रि पर शिवालय में भक्तों की जलाभिषेक के लिए लंबे-लंबे कतारे देखने को मिली। यहां शिव भक्त सुबह से ही अपनी बारी आने का इंतजार कर रहे थे। आपको बता दें, टपकेश्वर मंदिर 6,000 साल पुराना बताया जाता है। इसकी गुफा में एक प्राकृतिक शिवलिंग है, जो स्थानीय लोगों के लिए श्रद्धा का स्थान बन गया है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें